Friday, December 3rd, 2021

यह काम खतरे से खाली नहीं...


ऑफिस में हम अकसर कंप्यूटर का इस्तेमाल फिल्म और गाने डाउनलोड करने, बिजली-फोन के बिल जमा करने, ऑनलाइन शॉपिंग करने अथवा सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर पोस्ट डालने के लिए करते हैं। यह सब करते वक्त शायद हम यह भूल जाते हैं कि कंपनी हमारी हर गतिविधि पर नजर रखे हुए है। ऑफिस टाइमिंग के दौरान कंपनी के कंप्यूटर, लैपटॉप अथवा स्मार्टफोन से पर्सनल चीजें डाउनलोड करना या उन्हें निजी प्रयोग में लाना खतरे से खाली नहीं है। क्योंकि कंपनी का आईटी सेल इनमें कई ऐसे टूल्स, सॉफ्टवेयर और डिवाइस लगाता है जिनके जरिए डिवाइस पर किए जाने वाले हर काम पर नजर रखी जा सकती है। कानूनी तौर पर भी कंपनी को यह अधिकार होता है कि वह अपने ऑफिस के किसी भी कंप्यूटर या लैपटॉप की जांच-पड़ताल कर सके।

हर गतिविधि पर नजर
यह न भूलें कि ऑफिस की ईमेल या वेब ब्राउजर पर होने वाली हर गतिविधि आसानी से ट्रैक की जा सकती है। ऑफिस के ब्राउजर या सर्वर के जरिये किए जाने वाले हर मेल और खोली जाने वाली वेबसाइट पर कंपनी के आईटी सेल की नजर होती है। कंपनी के सर्वर या वेबसाइट के हिस्ट्री ब्राउजर पर सारी सामग्री सुरक्षित रहती है। यहां तक कि ऑफिस की किसी भी डिवाइस से होने वाले संवाद तक को ट्रैक किया जा सकता है।

कंपनियों को पूरा अधिकार
आईटी कंपनियां एसएसएल यानी सिक्योर सॉकेट लेयर की मदद से वायरस अटैक रोकने का काम करती हैं। लेकिन उन्हें एडमिन की ओर से पूरा अधिकार होता है कि वे आपका लॉगिन खोल कर आपके ईमेल या भेजे गए संदेशों की जानकारी ले सकें।

कानूनी कार्रवाई भी
कंपनी के डिवाइस का गलत इस्तेमाल एक मौखिक या लिखित शिकायत को जन्म दे सकता है। इससे आपका प्रमोशन प्रभावित हो सकता है। साथ ही आप पर कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है।

हिस्ट्री में सुरक्षित
यदि कोई ऑफिस के पीसी, लैपटॉप या स्मार्टफोन पर गुप्त रूप से क्रोम, मोजिला, फायर फॉक्स ब्राउजर पर पोर्न साइट या आपत्तिजनक सामग्री देखता है तो वह उसकी हिस्ट्री में सुरक्षित हो जाती है। कंपनी चाहे तो उस पर तुरंत कार्रवाई कर सकती है।

Source : Agency

आपकी राय

4 + 12 =

पाठको की राय