Monday, January 17th, 2022

ममता बनर्जी ने राहुल गांधी पर हमला कर दिए बड़े संकेत, कुछ लोग आधा समय विदेश में गुजारते हैं

नई दिल्ली

विपक्ष को एकजुट करने की कोशिशों में जुटीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साध बड़े संकेत दे दिये हैं। ममता बनर्जी ने कहा  है कि जल्दी ही फिल्ड में काम कर रहे लोगों को साथ लेकर एक नया विपक्षी गठबंधन सामने आएगा। कांग्रेस पार्टी और नेतृत्व का बिना नाम लिए ममता बनर्जी ने कहा कि जितनी मजबूती के साथ उन्हें भाजपा से लड़ना चाहिए उतनी मजबूती के साथ वो नहीं लड़ पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब कोई यूपीए यानी यूनाइटेड प्रोग्रेसिव अलायंस नहीं है।

ममता बनर्जी ने कहा अगर मैं देश में लोगों से मिल रही हूं तो इसमें समस्या क्या है। कुछ ऐसी पार्टियां और लोग हैं जो कुछ नहीं करते हैं। आधा समय तो वो विदेश में गुजारते हैं। कुछ नहीं करते। ममता बनर्जी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए यह बात कही। ममता बनर्जी ने इशारों-इशारों में कहा है कि कांग्रेस के पास बीजेपी का मुकाबला करने के लिए कोई रणनीति नहीं है। ममता बनर्जी ने पूर्व जजों, कलाकारों और कॉमेडियन्स के साथ बैठक भी की है। सिविल सोसायटी के साथ बैठक के दौरान ममता बनर्जी ने कहा, 'मैंने कांग्रेस से कहा था कि हमारे पास सलाहकारों की टीम होनी चाहिए...लेकिन उनलोगों ने मेरी नहीं सुनी। मैंने उनसे 6 बार कहा कि इस तरह की एक कमेटी बनाएं।


एनसीपी चीफ शरद पवार के साथ बैठक के बाद ममता बनर्जी ने कहा, 'आज जो हालात हैं उसमें कोई भी अकेला नहीं लड़ सकता है। हमें एक मजबूत विकल्प की जरुरत है और अगर कोई लड़ने के लिए तैयार नहीं है तो हम क्या कर सकते हैं। हम चाहते हैं कि सभी मैदान में आएं।'

इधर कांग्रेस नेतृत्व और पार्टी नेता राहुल गांधी पर कटाक्ष करने को लेकर तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने कहा कि वह राजनीति पार्टी जो सिर्फ अपने बारे में सोचती है वह भाजपा को नहीं हरा सकती। एक कार्यक्रम में तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा था कि राजनीति के लिए लगातार प्रयास आवश्यक है। राहुल गांधी पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए बनर्जी ने कहा था, ''आप ज्यादातर समय विदेश में नहीं रह सकते हैं।''
    
नागरिक समूह के सदस्यों के साथ बातचीत के दौरान बनर्जी ने दावा किया कि उन्होंने विपक्ष को दिशा दिखाने के लिए सिविल सोसायटी के प्रतिष्ठित लोगों की एक सलाहकार समिति गठित करने की सलाह कांग्रेस को दी थी, लेकिन यह योजना परवान नहीं चढ़ी। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार से दिन में मुलाकात के दौरान बनर्जी ने कहा कि अब ''कोई संप्रग'' नहीं है।

 बनर्जी का नाम लिए बगैर उनपर पलटवार करते हुए कांग्रेस विधायक दल के नेता और महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट ने कहा कि कांग्रेस ने भाजपा और केन्द्र सरकार के 'अत्याचार' के खिलाफ जो लड़ाई शुरू की है उसे पूरा देश जानता है। उन्होंने एक बयान में कहा, ''राहुल गांधी की प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से आलोचना करके कोई भी पार्टी भाजपा के खिलाफ नहीं लड़ सकती है, खास तौर से अगर वह अपने राजनीतिक फायदों और व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा के बारे में सोच रही है तो। कांग्रेस देश और लोकतंत्र के लिए एकमात्र विकल्प है।''

Source : Agency

आपकी राय

5 + 14 =

पाठको की राय