Friday, May 20th, 2022

अद्भुत संयोग में मानेगी शनैश्चरी अमावस्या पड़ेगा सूर्य ग्रहण

इंदौर
 साल 2022 का पहला सूर्य ग्रहण 30 अप्रैल 2022 (Solar Eclipse 2022) को लगेगा। यह दोपहर 12 बजकर 15 मिनट से लेकर शाम के 04 बजकर 07 मिनट तक लगेगा। इस सूर्य ग्रहण को दक्षिणी और पश्चिमी अमेरिका, अफ्रीका महाद्वीप के उत्तरपूर्वी भाग, पेसिफिक अटलांटिक और अंटार्कटिका में देखा जा सकेगा, जिसके चलते सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2022) का सूतक मान्य नहीं होगा। लेकिन इस समय राहु और केतु की बुरी छाया पृथ्वी पर पड़ती है, ऐसे में समस्त पृथ्वी वासी पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।


खास बात ये है कि यह ग्रहण शनिवार को पड़ रहा है और इसी दिन शनैश्चरी अमावस्या है। वही 30 सालों बाद 29 अप्रैल को शनि मकर से कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे, ऐसे में शनि का ये दुर्लभ संयोग हर मायने में बहुत खास है। 100 सालों बाद ऐसा योग बन रहा है, जिसे ज्योतिषीय दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। चुंकी शनि के राशि परिवर्तन के बाद 30 अप्रैल को शनैश्चरी अमावस्या के साथ चैत्र का महीना समाप्त होग जाएगा और संयोगवश इसी दिन आंशिक सूर्य ग्रहण लग रहा है यानि पिता-पुत्र का ऐसा दुर्लभ संयोग पिछले 100 वर्षों में नहीं बना है।  हालांकि भारत में आंशिक सूर्य ग्रहण माना जाएगा, जिसके चलते सूतक काल मान्‍य नहीं होगा।


धार्मिक मान्यता है कि सूर्य और पृथ्वी के बीच चन्द्रमा के आने से सूर्यग्रहण लगता है। इस दौरान चंद्र और सूर्य का प्रकाश पृथ्वी पर नहीं पहुंच पाता है।हिन्दू मान्यताओं और ज्योतिषशास्त्र के अनुसार, इसका एक अलग महत्व और मान्यता हैं।सूर्य को सभी ग्रहों का राजा कहा जाता है।इसे पिता और आत्मा का कारक माना जाता है, ऐसे में सूर्य ग्रहण की स्थिति को शुभ नहीं माना जाता है,जिसके चलते ग्रहण लगने पर सूर्य पीड़ित हो जाते हैं और शुभ फलों में कमी आ जाती है।भले ही सूतक मान्य नहीं होगा, लेकिन सूर्य-शनि के बीच पिता-पुत्र का संबंध होने के कारण इस घटना को महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

इन राशियों को मिलेगा लाभ

वृषभ राशि- वृषभ राशि वालों पर बड़ा प्रभाव देखने को मिलेगा क्योंकि सूर्य ग्रहण इस बार इसी राशि पर लगने जा रहा है।यह शुभ फल देने वाला हो सकता है और आपके रूके काम पूरे हो सकते है। इस समय सभी यात्रा और प्रॉपर्टी में निवेश करना लाभदायक होगा। व्यापार से जुड़े जातकों के लिए भी ग्रहण शुभ रहने वाला है।नौकरी करने वालों और कारोबारियों दोनों को ही लाभ होगा।थोड़ी तनाव की भी स्थिति बन सकती है।सतर्क रहने जरूरत है।

कर्क राशि- कर्क राशि के लिए भी यह शुभ साबित होगा।सूर्य ग्रहण भाग्‍य वृद्धि करेगा और कामों में सफलता मिलेगी। काम और समाज में मान सम्मान बढ़ेगा और भाग्य को मजबूत कर सकता है।अपनी योग्‍यता दिखाने का मौका मिलेगा और उसका फायदा भी मिलेगा। किसी भी नई चुनौती का समाधान करने की ज़िम्मेदारी ले सकते हैं, उच्च अधिकारियों का सहयोग प्राप्त होने के साथ प्रमोशन हो सकता है।

तुला राशि- इन जातकों के लिए ग्रहण अच्छा साबित होगा। नौकरी में अच्छे अवसर और तरक्की होने की संभावना है।अपने लक्ष्यों पर कड़ी मेहनत करते करेंगे तो सफलता जरूर मिलेगी।जो लोग पार्टनरशिप में काम करते हैं, उन्‍हें भी लाभ मिल सकता है।

धनु राशि- ग्रहण से धन का लाभ हो सकता है और विदेश में नौकरी पाने के संयोग बन सकते है। आपके द्वारा उधार दिया हुआ पैसा आपको वापस मिल जाए। साथ ही नौकरी पेशा जातकों को भी इस समय रोजगार के नए अवसर प्राप्त हो सकते हैं। व्‍यापारी अपना व्‍यवसाय बढ़ाने के लिए किसी नए प्रोजेक्‍ट पर काम कर सकते हैं। ग्रहणकाल के दौरान मंत्रों के जाप से भी लाभ मिलेगा।

कन्या राशि- साल का पहला सूर्य ग्रहण कन्‍या राशि से 8वें घर में लग रहा है, ऐसे में करियर से संबंधित कोई भी निर्णय एक दम से ना लें। व्‍यवसाय और नौकरी से संबंधित कोई भी बड़ा फैसला टालने का प्रयास करें। इस दौरान आपको मेहनत का फल भी पूरा नहीं मिलेगा। किसी को धन उधार न दें और इस वक्‍त मौसम के कारण आपको सर्दी-गर्मी हो सकती है।

मिथुन राशि- इन राशि वालों के लिए ग्रहण अच्छा होगा।धन में वृद्धि,नौकरी पेशा आय में बढ़ोतरी होने के आसार है। उधार चुकाने में सफल और लोन लेने पर विचार कर रहे हैं तो आपको लाभ मिलने की संभावनाएं हैं।
ये राशियों रहे सावधान

सूर्य इस वक्‍त मेष राशि में स्थित हैं, इस कारण ग्रहण भी मेष राशि में लग रहा है। मेष राशि में ही सूर्य ग्रहण लगने की वजह से इस राशि के जातकों पर इसका ज्यादा प्रभाव हो सकता है, इसलिए सावधानी बरतें।वही सूर्य ग्रहण के दौरान कर्क राशि के स्वामी ग्रह चंद्रमा मेष राशि में राहु के साथ विद्यमान होंगे, ऐसे में तनाव से दूर रहने की कोशिश करें। सूर्य ग्रहण वाले दिन वृश्चिक राशि के जातक भी वाद विवाद से बचें वरना मान​हानि हो सकती है।हालांकि आपको पुराने निवेशों से फायदा मिलने के साथ धन लाभ होने की काफी मजबूत संभावना हैं।


इन बातों का रखना चाहिए विशेष ध्यान

  •     ज्योतिषीय के अनुसार, सूतक काल में बालक, वृद्ध एवं रोगी को छोड़कर अन्य किसी को भोजन नहीं करना चाहिए। सूतक काल लगते ही तुलसी या कुश मिश्रित जल को खाने-पीने की चीजों में रखना चाहिए।
  •     गर्भवतियों को खासतौर से सावधानी रखनी चाहिए। सूतक के दौरान किसी भी तरह के शुभ कार्य नहीं किए जाते।
  •     घर में भी मंदिर को कपड़े से कवर कर देना चाहिए। इस दौरान कोई पूजा पाठ नहीं किया जाता है।
  •     ग्रहण समाप्ति के बाद देवी-देवताओं को स्नान कराकर मंदिर फिर से खोले जाते हैं।
  •     ग्रहणकाल में अन्न, जल ग्रहण नहीं करना चाहिए। ग्रहणकाल में स्नान न करें। ग्रहण समाप्ति के बाद स्नान करें। ग्रहण (Solar) को खुली आंखों से न देखें। ग्रहणकाल के दौरान गुरु प्रदत्त मंत्र का जाप करते रहना चाहिए।

 

Source : Agency

आपकी राय

4 + 12 =

पाठको की राय