Friday, May 20th, 2022

बीपीएससी पेपर लीक के बाद सीबीएसई ने 10वीं-12वीं परीक्षा को लेकर उठाया यह कदम

 पटना
 
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 10वीं और 12वीं के टर्म-2 परीक्षा में आब्जर्वर की संख्या बढ़ा दी है। पहले एक आब्जर्वर पर पांच से छह स्कूल की जिम्मेवारी थी। लेकिन उसे कम करके एक आब्जर्वर को दो से तीन स्कूल दिया गया है। साथ में आब्जर्वर को कई निर्देश भी दिये गये हैं, जिससे परीक्षा के दौरान किसी तरह की गड़बड़ी नहीं हो। हर दिन प्रश्न पत्र लाने और उसे परीक्षार्थियों तक पहुंचाने में सुरक्षा बढ़ायी गई है। परीक्षा शुरू होने के एक घंटे तक किसी भी छात्र को कक्षा के बाहर जाने की अनुमति नहीं देनी है। इस दौरान अगर छात्र को प्यास लगती है तो कक्षा तक पानी पहुंचाने का निर्देश दिया गया है।

ज्ञात हो कि बीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा के प्रश्नपत्र लीक होने की घटना के बाद सीबीएसई सख्त हो गया है। नाम न छापने की शर्त पर एक आब्जर्वर ने बताया कि प्रश्न पत्र लाने में केंद्राधीक्षक के साथ अब आब्जर्वर को भी जाना है। प्रश्न पत्र लेने के बाद केंद्राधीक्षक के साथ आब्जर्वर को भी सीलबंद प्रश्न पत्र की फोटो लेकर बोर्ड को भेजनी है। हर हाल में प्रश्नपत्रों की सुरक्षा करनी है।

तीन सौ आब्जर्वर लगाये गए
इस बार राज्य भर में आठ सौ परीक्षा केंद्र बनाये गये हैं। इसमें अब तीन सौ आब्जर्वर लगाये गये हैं। हर केंद्र पर फ्लाइंग स्क्वॉयड को हर दिन चार से पांच केंद्रों पर जाना है। बोर्ड की मानें तो प्रश्न पत्र परीक्षा हॉल में खोला जा रहा है। इस दौरान छात्रों से हस्ताक्षर करवाये जा रहे हैं। वहीं केंद्र के बाहर सौ मीटर तक धारा 144 लागू है। परीक्षा हॉल में 18 छात्रों पर दो वीक्षक लगाये गये हैं।

 

Source : Agency

आपकी राय

11 + 5 =

पाठको की राय